Home / Antarvasna Hot Sex Story - Adult Sex Stories / मियां बीवी की चुदाई की मस्त बातें और चूत चुदाई की कहानी-2

मियां बीवी की चुदाई की मस्त बातें और चूत चुदाई की कहानी-2

अब तक आपने पढ़ा..
कमल और गीता की एक महीना पहले शादी हुई थी, उनकी चुदाई चल रही थी, गीता की चूत ने पानी छोड़ दिया था और कमल अब भी उसे चोद रहा था।
अब आगे..

‘अहह.. हां राजा चोद दे.. ठोक दे अपना मूसल लंड.. पर मुझे धीरे-धीरे खूब देर तक चोद राजा.. चस-चस वाली चुदाई कर राजा.. उसमें मुझे बहुत मज़ा आता है.. रगड़ ना।’
‘मुझे भी तेरी चस-चस चूत मारने में बहुत मज़ा आता है रानी।’

कमल उसके ऊपर झुक कर चूची चूसते हुए दोनों हाथ से उसके चूतड़ ऊपर उठा कर धीरे-धीरे धक्के मारने लगा, गीता अपनी मस्ती में झूम रही थी और अपनी कमर हिला कर उसका साथ दे रही थी- हां.. आह.. हां…उह…हां सी.. अह्ह सच… में राजा तेरे मोटे तगड़े लंड ने तो मेरी चूत खोल ही डाली.. उम्म्ह… अहह… हय… याह… सी.. हां.. चोद मेरे राजा, अपनी चूत तो फिर से बहुत मस्त हो रही है राजा, आह्ह.. ये तो पानी छोड़ने वाली है। तेरा लंड मेरा दाना बहुत मस्त रगड़ रहा है।

‘हां मेरी रानी हां… उह्ह्ह बहुत मज़ा आ रहा है। अपना लंड भी बहुत मस्ती में है। तेरी गर्म-गर्म चिकनी-चिकनी रस भरी चूत में घुस कर अकड़ रहा है। अह्ह.. सी.. उह्ह.. यस रानी.. यस बस अब तो अपना भी झड़ने वाला है।’

कमल ने चूत चोदने की रफ़्तार थोड़ी तेज़ कर दी।

इस तरह करीब 15 मिनट की चुदाई के बाद पहले गीता अपनी चूत भींच कर चूतड़ उठा कर झटके मारते हुए फिर से झड़ गई। फिर कमल ने भी उसकी चूत में अपना रस छोड़ दिया और लंड बाहर निकाल कर उसके पेट और चूची पर अपने रस की बूँदें टपका दीं।

गीता ने उसके लंड को अपनी चूचियों में दबा कर भींच लिया- ओह…माय.. गॉड.. गीता आज तो तूने सच में लौड़े को निचोड़ दिया.. आह्ह.. मेरी रानी!
‘हाय राम मैंने निचोड़ डाला या तूने मेरी चूचियों.. चूतड़ों.. और नंगी चूत का रस सारा रस निचोड़ डाला मेरे चोदू राजा.. आह्ह..’

गीता ने अपनी बांहें और जांघें खोल दीं और उठ कर बाथरूम जाने लगी। गीता मुस्कुराते हुए मुड़ी.. वो कमल की गर्म-गर्म निगाहें अपनी नंगी जवानी पर महसूस कर रही थी।

थोड़ी देर बाद गीता बाथरूम से बाहर आई उसके हाथ में गीला तौलिया था, उसने सामने से खुली हुई कमीज पहनी हुई थी, कमल खिड़की के पास लुंगी पहन कर खड़ा सिगरेट पी रहा था।

गीता उसके सामने घुटनों पर बैठ उसकी लुंगी अलग कर बदमाशी से मुस्कराते हुए उसका लंड, जांघों गोलियों को साफ करने लगी। गीता लंड से खेलने लगी थी, कमल भी उसकी चूचियों से खेल रहा था- गीता मत कर मेरी रानी, इसको फिर से खड़ा मत कर.. चल अब खड़ी हो जा!

उसने हाथ पकड़ कर गीता को खड़ा कर दिया और उसको चूम कर चूतड़ों से खेलते हुए बोला- गीता रानी.. मेरी जान आज मैं तुझे एक बात बताना चाहता हूँ।’
‘बता न?’
‘तुझे मालूम है कि शादी से पहले मैं 4 साल तक सरला भाभी के साथ सेक्स करता रहा था।’
‘ओह माई गॉड.. सच में… वो सरला शाह, जो तेरे पुराने फ्लैट के सामने रहती है। पर वो तो शादीशुदा है ना और उसका दो साल का बेटा भी है।’

‘हां मेरी जान हां… वही सरला भाभी और वो भी उतनी ही गर्म और चुदक्कड़ है जैसा मैं हूँ और तू अब है। जब भरत भाई शहर से बाहर होते थे, तो वो मुझ से एक दिन में पांच-पांच बार चुदवाती थी। जब वो शहर में भी होते थे.. तो भी कम से कम दिन में हम दोनों दो बार तो चुदाई का मज़ा लेते ही थे। जब उनका बेटा राहुल हो गया था.. वो और भी मस्त और चुदक्कड़ हो गई थी।’

‘ओह गॉड.. मैं यह सुन कर बहुत खुश हूँ.. राजा, वो कितनी सुन्दर सेक्सी और प्यार करने वाली है। मैं उसको रोज़ जिम में मिलती हूँ। राहुल भी कितना स्मार्ट और शैतान है। सरला भाभी करीब 35 साल की तो होंगी ही?’ गीता ने कमल को चूमते हुए कहा।

‘सरला भाभी अभी 37 साल की हैं। हमने अपना प्यार और चुदाई का सफर जब शुरू किया था.. तब वो 32 की थीं और मैं 25 का था। वो इतनी गर्म और चुदासी आइटम हैं.. उफ़ रेशम सी मुलायम स्किन, दूध सा सफ़ेद रंग और हमेशा गीली बड़ी सी काली झांटों वाली चूत।’

कमल ने सरला भाभी का बखान करते हुए गीता की चूत में उंगली घुसा दी- पर तेरी चूत बहुत कसी है जान.. और मेरा पूरा लंड अन्दर खींच लेती है।
‘ओह राजा.. सी.. ई अभी मत कर ना। नहीं तो गर्म हो जाएगी। इसका मतलब राहुल तेरा है?’ गीता ने मुस्कुरा कर उसकी तरफ देखते हुए पूछा।

कमल की बदमाश निगाहें अब गीता की गोल-गोल चूचियों को देख रही थीं- ‘यह तो मालूम नहीं है.. हो सकता है…पर भरत भाई भी उसकी चूत मार रहे थे ना… पर ज्यादातर वो सरला भाभी की गांड मारते थे..’ कमल ने गीता की चूची दबाते हुए कहा।
‘ओह्ह..’

‘चल मैं तुझे बहुत मस्त चीज़ दिखाता हूँ। पर उसके लिए हमें अपने पुराने फ्लैट पर जाना पड़ेगा।’
‘ठीक है हम चलते हैं। पर मैं भी तुझे कुछ बताना चाहती हूँ। मैंने भी अपनी एक सहेली के साथ वहाँ पटियाला में सेक्स किया है। वो मेरे साथ कॉलेज में थी।’
गीता कनखियों से कमल को देख रही थी।

‘ओह माई गॉड… सच यह तो बहुत मज़ेदार बात है यार! इसमें शर्म की क्या बात है मेरी रानीम सब लड़कियां कभी न कभी यह कुछ करती ही हैं। बता ना.. तूने उसके साथ क्या-क्या किया?’
‘हाय राम.. सच्ची तू जानना चाहता है? हम दोनों एक दूसरी की चूत में खूब मज़ा ले ले कर उंगली करती थीं और चूचियों को चूसती थीं। उसने मुझे बताया था कि सब मर्द गांड मारना चाहते हैं। लेकिन तूने मेरी अभी तक नहीं मारी। पर आज मैं तेरी गांड मारना चाहती हूँ चोदू घोड़े की तरह.. पीछे से तेरा लंड पकड़ कर!’

गीता अपने मज़ाक पर हँस रही थी, साथ ही कमल के द्वारा चूचियों को छूने और दबाने का मजा ले रही थी।
यह हिंदी सेक्स स्टोरी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!

‘ओह सच में.. ठीक है जैसे तू चाहे मार सकती है। पर तेरी गांड बहुत छोटी है मेरे इस मोटे तगड़े लंड को झेलने के लिए। हां मैंने सरला भाभी की एक-दो बार गांड भी मारी है।’
‘अरे वाह्ह.. बता न कैसे मारी?’

‘चल ना रानी.. मैं तुझे सरला भाभी की नंगी और चुदाई हर तरीके से.. घर में हर जगह उसके और मेरे घर में हुई चुदाई की फोटो दिखाना चाहता हूँ।’
‘हाय राम तूने चुदाई की फोटो भी ले रखी हैं।’

गीता हँस रही थी और अपनी कमीज पर सिल्क की एक लंबी स्कर्ट पहन ली और कमल अपनी स्लैक्स और टी-शर्ट पहन कर अपनी बड़ी सी कार में एक-दूसरे को छेड़ते हुए अपने पुराने फ्लैट के लिए निकल पड़े।

वो दोनों चुपचाप अपने एक बेडरूम के फ्लैट में अन्दर आ गए। कमरे का दरवाज़ा बंद करके बेडरूम में आ कर लाइट जला दी और कमल ने कंप्यूटर चालू कर दिया। फिर कमल ने हँसते हुए गीता को अपने सामने खड़ा कर लिया। अब उसने अपना अकड़ता लंड स्कर्ट के ऊपर से उसके चूतड़ों पर दबा कर अपना हाथ उसकी कमीज में डाल दिया और चूचियों से खलने लगा।

‘उह्ह.. सच में गीता तुझे ऐसे दबा कर चूचियों को दबाने में और लंड रगड़ने में बहुत मजा आता है।’
‘हां मुझे भी बहुत मज़ा आ रहा है…पर फोटो तो दिखाओ ना?’

गीता ने अपनी स्कर्ट ऊपर खिसका दी और कमल की स्लैक्स को नीचे कर दिया। अब उसका नंगा लंड गीता के रेशमी नंगे चूतड़ों पर रगड़ रहा था।

कमल ने कम्प्यूटर पर फोटो खोल दिए। एक फोटो में सरला भाभी पूरी नंगी थीं। अगली फोटो में अपनी रेशमी चूचियों को दिखाते हुए.. चूतड़.. चूत.. अलग-अलग कोण से बहुत सारे फोटो थे।

‘ओह माई गॉड.. क्या फोटो हैं कमल.. भाभी बहुत सेक्सी और चुदासी लग रही हैं। राजा अब तो मेरी गांड पर छूता हुआ तेरा लंड भी बहुत मज़ेदार लग रहा है, उह्ह्ह.. यस.. .हां.. रगड़ दे राजा।’

गीता को फोटो देखते हुए कमल का गर्म लंड अपने चूतड़ पर बहुत मज़ेदार लग रहा था। अब तो कमल ने अपनी उंगली उसकी चूत में घुसा दी थी। चूत एकदम गीली होकर रस छोड़ रही थी। कमल को भी उसकी चूचियों को दबा कर लंड रगड़ने में बहुत मज़ा आ रहा था।

फिर शुरू हुई चुदाई की फोटो.. अलग-अलग कई तरीकों से चुदाई की फोटो.. उसकी चूचियों की.. उठे हुए चूतड़ों की.. खुली हुई गुलाबी चूत की फोटो.. मोटे तगड़े लंड की चूत में घुसते हुए की फोटो थीं।

‘उह्ह्ह.. उह्ह्ह.. वाह… राजा क्या फोटो है.. तूने इतनी सारी फोटो कैसे ले लीं.. और इतनी अच्छी फोटो! वाह सरला भाभी ने ये फोटो लेनी कैसे दीं?’
गीता अब खूब गर्म और गीली चूत की मस्ती में चुदासी हो रही थी।

कमल भी पूरी मस्ती में उत्तेजित हो गया था और उसका लंड तनकर खड़ा होकर गीता के चूतड़ों की दरार में चुभ रहा था- यह बहुत लंबी कहानी है मेरी रानी… मैं तुझे बाद में बताऊँगा। अभी तो मुझे अपना लंड तेरी चूत में घुसाने दे, यह मस्ती में पागल हो रहा है मेरी जान!

कमल ने गीता की एक टांग उठा कर कुर्सी पर रख दी और पीछे से अपना कड़ा मस्त लंड उसकी चूत में घुसा दिया और दोनों हाथ से उसकी गोल-गोल चूचियों को पकड़ लिया।

Check Also

गर्लफ्रेंड को झाड़ियों में ले जाकर चुदाई की

एक शादी में एक लड़की मुझे अच्छी लगी, वो भी मुझसे नैन लड़ा रही थी. …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *